सबसे पहले यह Hyde Act है ना कि Hide Act ।

यह दोनों मसले चर्चा-ए-आम है। हर कोई 123 समझौते के बारे में जानना चाहता है। अब वामदलों के विरोध के बाद लोगों में हाइड एक्ट को लेकर जागरूकता फैल रही है।

मैं पूरी कोशिश करूंगा कि इसे समझा पाऊं।

सबसे पहले चर्चा 123 समझौते की। भारत-अमेरिका के बीच जो एटमी समझौता हुआ है वह समझौता अमेरिका ने अपने एटमी कानून के अनुच्छेद 123 में संशोधन कर किया है। इस संशोधन के बाद अमेरिका किसी ऐसे देश से समझौता कर सकता है जिसने एनपीटी में हस्ताक्षर नहीं किया हो।

हाइड एक्ट का नाम इसके निर्माणकर्ता हेनरी जे हाइड के नाम के कारण पड़ा। इस समझौते का पूरा नाम अमेरिका-भारत शांतिपूर्ण एटमी ऊर्जा सहयोग एक्ट, 2006 है। हाइड एक्ट के तहत अमेरिका को भारत के साथ यह समझौता करने की छूट दी गई है, जिसने एनपीटी में हस्ताक्षर नहीं किया है। इसके तहत भारत अपने नागरिक हितों के लिए इसका सैन्य इस्तेमाल कर सकता है। अपने ऊर्जा संबंधी जरूरतों को पूरा कर सकता है।

हाइड एक्ट को कांग्रेस के हाऊस आफ रिपरशेंसटेटिव ने 68 के मुकाबले 359 मतों से और सीनेट ने 12 के मुकाबले 85 मतों से पारित कर दिया है।

अगर आप इस संबंध में और कुछ जानना चाहते हैं तो कृप्या इन लिंक्स को देखें। या फिर अपने कमेंट देकर पूछें..

व्हाइट हाऊस से जारी खबरें
हाइड एक्ट के बारे में कांग्रेस से जारी विज्ञप्ति (PDF File)
हिंदुस्तान टाइम्स पर संबंधित खबर
वीकिपीडिया पर समझौते का लेख
डेली पायनियर पर एक आलेख