खबर सुनते ही मेरा सीना चौड़ा होता गया। एक खुशी का एहसास हो रहा है। खबर आने के पांच मिनट के अंदर भारतीय विकिपिडिया यूजर अभिनव बिंद्रा को गोल्ड मेडल दे चुके थे। मेरी खुशी और बढ़ गई। अर्जुन के देश में ओलंपिक इतिहास का पहला व्यक्तिगत गोल्ड अभिनव बिंद्रा ने दिलाया।

खबर देने वाले मीडिया मैन से लेकर आम इंसान तक गूगल में अभिनव को सर्च करने लगा। कुछ औपचारिक बधाई और साधुवाद मिलने लगे। क्रिकेट के देश में अचानक शूटिंग की चर्चा होने लगी। लोगों ने भारत-श्रीलंका टेस्ट से निकलकर न्यूज चैनल और डीडी स्पोर्टस देखना शुरू कर दिया। यूट्यूब पर अभिनव को गोल्ड मेडल दिया जाने वाला क्षण अपलोड कर दिया गया। भारत पदक तालिका में आ गया। एक साथ कई चीजें होने लगी।

फिलहाल पूरा देश खुश है, मैं खुश हूं, आप खुश है। सभी भारत वासियों की ओर से अभिनव बिंद्रा को ढेरों बधाई।