Driving car

लहराते बाल। आंखों में फैशनबल चश्मा। जींस और टी शर्ट। यहां तक तो मैं खुश रहता हूं लेकिन.. अगर इन्हीं हाथों स्टीयरिंग देखता हूं तो डर जाता हूं।

मेरे अपने निजी अनुभव के अनुसार महिलाएं अच्छी ड्राइवर नहीं होती हैं। सीधा रास्ता तब तक तो ठीक है लेकिन जहां थोड़ी भाड़ हुई नहीं कि आप इनसे दूर हीं रहें..।

मैंने कई मौकों पर देखा है कि महिलाओं का क्लच और गियर पर तालमेल काफी हद तक डरावना होता है। तो बात मानिए पुलिस के आगे और घोड़ों के पीछे के साथ-साथ, महिलाएं जब गाड़ी चलाएं तो इनके आगे-पीछे कहीं ना रहें।

यह कुछ ऐसा है जैसे कि पुरुष अच्छा खाना नहीं बना पाते ठीक वैसे ही औरतें अच्छी गाड़ी नहीं चला पाती।

(संजीव कपूर, मशहूर शेफ का नाम ना लें। अपवाद हर जगह होता है।)